Breaking News
  • गणतंत्र दिवस की बधाई और संदेश ?

    󾁁 एक सैनिक ने क्या खूब कहा है 󾁁 किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ के आया हूँ... मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ के आया हूँ..... मुझे छाती से अपनी तू लग ...

  • बस तूही, बस तूही

    कुछ नहीं , कुछ नहीं बस यूँही , बस यूँही कोई दूजा नहीं बस तूही, बस तूही हाँ मुक़र्रर लगे साथ तेरा मेरा साँस कहने लगी बात हर अनकही कोई दूजा नहीं बस तूही, बस ...

  • फूल नहीं तोड़ेंगे हम

     14 नवम्बर, बाल दिवस, बच्चों के प्यारे चाचा नेहरू का जन्म-दिवस, देवम के स्कूल में बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है। सभी छात्र बड़े उत्साह और उमंग के साथ इ ...

  • अगर आप लाइफ में (करोड़पति ) बड़ा  बनना चाहते है  ,तो ये लेख जरूर पढ़े !

    अब बताइये इस लिस्ट में क्या कोई ऐसा भी है जो नौकरी पेशा है? मेरी लिस्ट में तो नहीं है, मेरे दिमाग में जो नाम आये वो मै आपको बताना चाहूँगा। मैं Gorakhpur  ...

गैजेटस

  1. All
Whatsapp यूजर्स के लिए काम की साबित हो सकती हैं ये 10 सीक्रेट TRICKS

गैजेट डेस्क। लोकप्रिय इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप वॉट्सऐप का पीसी वर्जन भी अब इस्तेमाल किया जा सकता है। पिछले कई दिनों से...

अब अनलिमिटेड व्हाट्सएप चलाएं ‘व्हाटसिम’ पर

नई दिल्ली। इंस्टैंट मैसेजिंग एप व्हाट्सएप ग्राहकों की सुविधा के लिए नए-नए फीचर्स लेकर आता है लेकिन अब एक ऐसी सिम आई...

मनोरंजन

  1. All
  2. Games
  3. Movie
Aamir Khan’s ‘PK’ is today’s big big release

After an extremely long wait (Raju Hirani took 5 years to make the film), Aamir Khan’s ‘PK’ hits screens on Friday...

इन कारणों से ‘पीके’ तोड़ेगी  ‘धूम 3’ का रिकार्ड !

बॉलीवुड के जानेमाने अभिनेता आमिर खान की आगामी फिल्‍म 'पीके' इन दिनों सुर्खियों में है. राजकुमार हिरानी के निर्देशन...

खबरें

  1. All
  2. Career
  3. Politics
  4. Tech

साहित्य

Chinti Ko Dekha – a Poem by Sumitranandan Pant

चींटी को देखा? वह सरल, विरल, काली रेखा तम के तागे सी जो हिल-डुल, चलती लघु पद पल-पल मिल-जुल, यह है पिपीलिका पाँति! द...

ऑनलाइन गेम्स से छुट रही है ! शारीरिक और मानसिक कसरत !

बचपन में हम पूरे साल इतनी तरह के खेल खेलते रहते थे कि उनसे भरपूर शारीरिक और मानसिक कसरत होती थी। क्रिकेट, हॉकी और फ...

Motivational Stories

  1. All
रखिये ये विचार !

 सुविचार हम जानते हैं कि हम क्या हैं, पर ये नहीं जानते कि हम क्या बन सकते हैं। ~ शेक्सपीयर गहरी नदी का जल प्रवाह शांत व गंभीर होता है। ~ शेक्सपीय...